Post a Comment Blogger

  1. bhai,ye hamaare purkhe hain....inse badi personality aur koi naa hai !

    ReplyDelete
  2. ई झंडा के सुरक्षा मा तो नय तैनात है ?

    ReplyDelete
  3. @संतोष त्रिवेदी
    मित्र! ...उनसे साक्षात्कार का मौक़ा नहीं मिल पाया .....या यह कहिये कि उन्होंने मौक़ा ही नहीं दिया|

    ReplyDelete
  4. हम्म पन्द्रह अगस्त ध्वजारोहण के दिन का फोटो है,देखो न् जमीन भीगी हुई है. .........हमारे यहाँ बंदर गोरे मुंह वाले नही होते जी और पूंछ भी ज्यादा लम्बी होती है.हा हा हा जमीन खूब है आपके स्कूल के पास.पर ये कमरे दूर दूर काहे बनाए हैं?आगंवाडी या बालवाड़ी उसी केम्पस में है क्या?

    ReplyDelete
  5. @indu puri,
    हाँ!...इस गाँव में कम से कम ५०० बन्दर हैं ....अक्सर समस्याएं करते हैं| जमीन बहुत है .....क्योंकि गाँव से बाहर है विद्यालय| कमरे दूर दूर इसलिये बने हैं क्योंकि यह एक साथ नहीं बने हैं .....और वर्तमान में नियम के अनुसार इनका आपस में कम से कम २ मीटर दूर होना आवश्यक है| हाँ इसी कैम्पस में ही दो प्राथमिक विद्यालय भी हैं .....जिसमे क्रमशः दो आंगनवाडी केन्द्र संचालित हैं, उनके कमरे अलग हैं .....पर यहाँ दिख रहे कमरे मेरे ही विद्यालय का हिस्सा है|

    ReplyDelete

 
Top