खुल जा सिमसिम (Type & Search)

यह परिवर्तन की लहर है...

20.8.11
यह परिवर्तन की लहर है। आजादी की दूसरी लड़ाई है। अहिंसा से क्रांति पूरी होकर रहेगी। क्रांति कैसे होती है, नौजवानों ने दिखा दिया है। शांति और अहिंसा के रास्ते पर चलकर लोग यूं ही साथ देते रहें। उपवास से मेरा वजन घट रहा है मगर युवा शक्ति देखकर उतनी ही ऊर्जा भी मिल रही है। हम सबको सुखद भविष्य के सपने पूरे करने हैं। जीत हमारी ही होगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में सभी को कमर कसनी है। तभी हम मंजिल तक पहुंचेंगे।
  • अन्ना


14 टिप्‍पणियां:

  1. देश सुदृढ़ हो, दिशा सब मिलकर तय कर लें।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हाँ, पर पब्लिक को थक कर सोने की आदत है.... फिर सो जायेगी...

    उत्तर देंहटाएं
  3. देखना यह है कि इस मशाल में कितना तेल है। भटकाने वाले भी कम नहीं हैं॥.

    उत्तर देंहटाएं
  4. "Sometimes in life we think we don t need anyone
    But sometime we don t have anyone when we need
    So don t let ur best buddies go ever"

    उत्तर देंहटाएं
  5. अब समय आ गया है जबकि हम सभी अपनी बात एक आवाज में उठाएं ताकि 1 प्रभावी भ्रष्टाचार विरोधी व्यवस्था को कायम किया जा सके!

    उत्तर देंहटाएं
  6. प्रवीण त्रिवेदी जी जनमदिन की बधाईयाँ.

    उत्तर देंहटाएं
  7. और आखिर आधी मंजिल तो पार कर ही गये ।
    जन्मदिन की आपको हार्दिक शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. और आखिर आधी मंजिल तो पार कर ही गये । अब आगे का घटनाक्रम भी देखना है ।
    आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. ANNA UN LOGO KA PRATINIDHITVA KAR RAHE HAI JO BHRASTACHAR KA SHIKAR HAI,BHRASTACHAR KE SATH SOTA HAI,JAGATA HAI AUR JITA HAI



    KINTU....
    SARKAR UN LOGO KA PRATINIDHITVA KAR RAHI HAI JO JATIVADI HAI,SAMPRADAYIK AUR BHRAST HAI...
    JAISI PRAJA WAISA RAJA.....
    "HAM SUDHARENGE ,YUG SUDHAREGA"

    TATHASTU!

    उत्तर देंहटाएं